Monday, May 22, 2017

आज होंठ मिल ही गए उससे, ग़ालिब
और, बदनाम में हो चला

होंठ मिले उससे
 तो पता चला की नशा क्या है

तब आई वो
इतराते, मुस्काते
अखियां छलक गई
और दिल काँप उठा

उसकी नज़ाकत
उसका प्यार
और उसके ज़हरीले धोखे
नज़र मुझे आए

फिर  भी करता हूँ प्यार उससे
गहरा,  जितना है ये नशा
घुली है वो नस -नस में मेरी
जैसे ज़हर

पीउँगा
तब तक,  जब तक  होश न रहे
और
आग़ोश में न ले वो मुझको

पिऊंगा में
टोको न कोई, रोको न कोई

आएगी वो एक दिन
जनाज़े पे मेरे
देखूँगा में तब
क्या लिपटी होगी वो कोरे सफ़ेद में
या होगी वो लिपटी रंगीन गुलाल में


Copyright @ Ajay Pai  22nd May 2017

Saturday, May 13, 2017

थम  जा ए वक़्त, ठहर  जा
जीना अब नहीं  उसके बिना 

है वो नूर मेरे दिल-ए -जिगर  की
कैसे जियूँ उसके बिन ये बता

धुंधला सी  गयी है अब हंसी मेरी 
रुलाके चल न देना कहीं

ये जो आलम है मेरे दिल का
 पहचान ले तू यारा

ये धड़कन अब है मोहताज तेरी
हालत  ये तू  जान ले

बिन वजूद घुट रहा हूँ
तेरे बिन इस चौराहे पे

अगर ये हवायें पहुंचा दे 
उस तक मेरे दिल की खामोशियाँ
शायद, इकरार फरमाएंगी तब
उसकी नूरानी अखियां


Copyright @ Ajay Pai  8th May 2017

Saturday, May 6, 2017

It is 1 am
And, I am sitting’ straight
On my bed waiting for you
The night has grown darker
and, I am up for you

silent is the night
and, empty is my glass
won’t you come home
and, pour me some red wine

sneak-in, hushed
I’ve left the door ajar
let us make some hay
When the night is dark

Touch me once
kiss me twice, make me yours
and, i'll whisper into your ears
tender silent moans



Copyright @ Ajay Pai 
May 7th 2017
Image courtesy: Pixabay 


Tuesday, May 2, 2017



At the edge of my life
Is where I stood
Hopeful were my eyes

Simply then,
Like every fairy tale
There she came, ominous

At her arrival
Horrendous, were the screeches
Of the unborn in the wombs;
Young mothers were scooped of
Their bosoms

On the carcass
Of compassion she stood
With her heels piercing the flesh
Of humankind

Her violin
Zigzagged between
Melody and harmony

At the end of the ballad,
she declared
With three cheers
Peace restored.

*************

Copyright @ Ajay Pai
 02nd May 2017
Image courtesy: Pixabay